सांकल नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

सांकल नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – सांकल नृत्य गोगामेड़ी (ददरेवा,चुरू) का प्रसिद्ध है। इस नृत्य में गोगाजी के भक्त भावावेश में अपनी पीठ पर सांकल से मारते है और जख्मी हो जाते है। यह नृत्य डैरू वाद्ययंत्र के साथ किया जाता है। इसके नृतक कई बार गले में सांप भी रखते है, … Read more

डांग नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

डांग नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – डांग नृत्य नाथद्वारा (राजसमंद) का प्रसिद्ध है। यह धार्मिक नृत्य है। नाथद्वारा में वल्लभ सम्प्रदाय के अनुयायियों द्वारा होली के अवसर पर किया जाने वाला नृत्य है। इसमें नृतक देवर भाभी के रूप में एक दूसरे पर रंग डालते हुए नृत्य करते है।

हुरंगा नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

हुरंगा नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – हुरंगा नृत्य भरतपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्र का प्रसिद्ध है। यह भरतपुर जिले के ग्रामीण क्षेत्र का स्वांग नृत्य नाटक है। होली के बाद चैत्र कृष्णा पंचमी से अष्टमी तक ’हुरंगा’ आयोजित किया जाता है। इस नृत्य में पुरूष व स्त्रियाँ बम, ढोल व मांट वाद्ययंत्रों … Read more

चरकूला नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

चरकूला नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – चरकूला नृत्य भरतपुर का प्रसिद्ध है। यह महिला प्रधान नृत्य है। यह सिर पर बैलगाड़ी के पहियों पर दीपक जलाकर किया जाने वाला नृत्य है।

बम नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

बम नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – बम नृत्य मेवात क्षेत्र अर्थात् भरतपुर, डीग व अलवर का प्रसिद्ध है। फाल्गुन माह में नयी फसल के आगमन की खुशी में नगाड़ा वाद्ययंत्र के साथ रसिया गीत गाते हुये पुरूष कलाकारों द्वारा गाँव की चौपाल पर किया जाता है। इस नृत्य में बम वाद्ययंत्र व … Read more

डांडिया नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

डांडिया नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – डांडिया नृत्य मारवाड़ क्षेत्र का प्रसिद्ध है। यह होली के बाद प्रारम्भ होता है और इसमें पुरूषों की टोली दोनों हाथों में लम्बे डांडिया लेकर वृताकार नृत्य करते है। चौक के बीच में शहनाई और नगाड़े वाले और गवैये बैठते है। इसमें पुरूष होली के गीत … Read more

घुड़ला नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

घुड़ला नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – घुड़ला नृत्य जोधपुर का प्रसिद्ध है। यह नृत्य जोधपुर के शासक सातलदेव के काल में प्रारंभ हुआ। सुंदर शृंगार करके युवतियों व महिलाओं द्वारा अपने सिर पर छिद्र युक्त मटके में जलता दीपक रखकर नृत्य किया जाता है। यह नृत्य रात में किया जाता है। यह … Read more

लूंबर नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

लूंबर नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – लूंबर नृत्य जालौर का प्रसिद्ध है। यह महिला प्रधान नृत्य है। यह नृत्य होली के अवसर पर पाँव की प्रत्येक गति के साथ ताली बजाकर किया जाता है।

ढ़ोल नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

ढ़ोल नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – ढ़ोल नृत्य सांचौर जिले का प्रसिद्ध है। यह पुरूष रस प्रधान नृत्य है। यह नृत्य माली, ढोली, सरगड़ा व भील जाति के पुरूषों द्वारा विवाह के अवसर पर किया जाता है। कलाकारों का मुखिया ’थांकना शैली’ में ढोल बजाता है। थांकना समाप्त होते ही कुछ पुरूष … Read more

कच्छीघोड़ी नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

कच्छीघोड़ी नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – कच्छीघोड़ी नृत्य शेखावाटी क्षेत्र का प्रसिद्ध है। यह नृत्य शेखावाटी के साथ ही कुचामन, परबतसर व डीडवाना आदि क्षेत्रों में भी किया जाता है। यह एक व्यावसायिक नृत्य है। यह नृत्य वीर रस प्रधान है। यह पुरूष प्रधान नृत्य है। यह नृत्य विवाह के अवसर पर … Read more

चंग नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

चंग नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – चंग नृत्य शेखावाटी क्षेत्र का प्रसिद्ध है। यह नृत्य होली के अवसर पर पुरूषों द्वारा चंग बजाते हुये वृत्ताकार नृत्य किया जाता है, फिर घेरे के मध्य में एकत्रित होकर होली (धमाल) के गीत गाये जाते है। इस नृत्य की वेशभूषा में धोती व चूड़ीदार पायजामा … Read more

गींदड़ नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

गींदड़ नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – गींदड़ नृत्य शेखावाटी क्षेत्र का प्रसिद्ध नृत्य है। यह पुरूष प्रधान लोकनृत्य है। होली के अवसर पर यह नृत्य पुरूषों द्वारा किया जाता है और एक सप्ताह चलता है। नगाड़े वाद्ययंत्र के साथ पुरूष अपने दोनों हाथों में डण्डे लेकर उन्हें परस्पर टकराकर नृत्य करते है। … Read more

भवाई नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

भवाई नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – भवाई नृत्य उदयपुर (मेवाड़ क्षेत्र) का प्रसिद्ध है। यह एक व्यावसायिक नृत्य है। भवाई नृत्य मूल रूप से गुजरात का नृत्य है। राजस्थान में उदयपुर में इसका अधिक प्रचलन है। यह नृत्य चमत्कारिता व करतब के लिए प्रसिद्ध है। इसके प्रमुख कलाकार रूपसिंह शेखावत, अस्मिता काला, … Read more

रण नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

रण नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – रण नृत्य मेवाड़ क्षेत्र का प्रसिद्ध है। यह वीर रस प्रधान नृत्य है। मेवाड़ क्षेत्र के सरगड़ा जाति के पुरूषों द्वारा यह नृत्य किया जाता है। इसमें दो पुरूष हाथों में तलवार लेकर युद्ध कौशल का प्रदर्शन करते हुये नृत्य करते है।

गैर नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ?

गैर नृत्य कहाँ का प्रसिद्ध है ? उत्तर – गैर नृत्य मेवाड़ और बाड़मेर का प्रसिद्ध है। यह नृत्य भील पुरूषों द्वारा किया जाता है। यह नृत्य होली के दूसरे दिन से शुरू होकर 15 दिनों तक चलता है। इसमें ढोल, मांदल, बांकिया और थाली वाद्ययंत्रों का प्रयोग किया जाता है। इस नृत्य में धमाल, … Read more